prabhu charaNa




पथरीले  रास्ते
कांटो के आसरे
यही मिलेंगे चंचल मन को 
अविश्वासी जन को 
पर जो करे प्रभु चरणों का ध्यान 
जिसे चाहिए बेसब्री से ज्ञान 
बस उसीका होगा उद्धार
वही होगा इस भवसागर से पार
Post a Comment